जंगल के जल्लाद, कोबी के खुनी इतिहास के बारे में आप ये बात नहीं जानते होंगे।जानिए Raj Comics के सबसे ताकतवर सुपरहीरो की पूरी कहानी। पार्ट – 1

0
55

पार्ट – 1

Raj Comics ने आजतक जितने भी सुपरहीरोज को तैयार किया हैं उनमें से सबसे क्रूर और खतरनाक इतिहास अगर किसी का हैं तो वो हैं कोबी। कोबी यानी जंगल का जल्लाद भेड़िया का इतिहास पूरी तरह लोगो के खून और उनकी लाशों से भरा हुआ है। हमारे हिसाब से भारतीय कॉमिक्स जगत में कोबी से ज्यादा खतरनाक इतिहास किसी ओर का नहीं है।

Raj Comics Super Hero – Raj Comics news in Hindi

जंगल के इस जल्लाद के बारे में हर भारतीय Comics रीडर अच्छे से जानता है। भेड़िया यानी कोबी असल में एक भेड़िया मानव हैं जो कि असम के घने जंगलों में रहता है। जंगल में भेड़िया को एक देवता की तरह पूजा जाता है जो कि वहां रहने वाले आदिवासीयो और कबीलो के लोगो की रक्षा करता है। भेड़िया का जंगल में अपना कानून हैं जिसका पालन जंगल में प्रवेश करने वाले हर शख्स को करना होता हैं। भेड़िया के कानून के अनुसार जंगल में कोई भी शिकारी नहीं आ सकता, कबीलों के आदिवासी आपस में युद्ध नहीं कर सकते,जंगली जानवरों की बिना ठोस कारण हत्या नहीं की जा सकती। इसके अलावा जंगल में किसी भी तरह का कालू जादू करना वर्जित हैं। भेड़िया अपनी ताकत की वजह से जंगल में कानून बनाए रखता है ताकि वहां जानवर और इंसान आसानी से रह सके। भेड़िया के दो प्रमुख साथी हैं जिसमें एक फुजो बाबा और दूसरी भेड़िया की पत्नी जेन हैं। इन दोनों के बारे में हम आगे बात करेंगे।

कोबी – शख्सियत और ताक़त

सामान्य जानकारी जो लोगो के दिमाग में हैं कि कोबी और भेड़िया, दोनों एक ही शख्सियत है जो कि किसी वजह से एक दूसरे से अलग हो गई थी। कोबी और भेड़िया के अलग अलग हो जाने से उनके अंदर के गुण भी अलग हो गए। कोबी के अंदर जानवरो जैसे गुण हैं। उसमें भेड़ियों जैसी हिंसकता और पागलपन हैं। उसके पास जबरदस्त शारीरिक और भेड़ियो की जादूई ताकत है। लेकिन जानवर के ही गुण होने की वजह से उसमे बुद्धि भी जानवरो वाली ही हैं। कोबी ज्यादा कुछ सोच नहीं सकता। कभी कभी वो बहुत हिंसक ही उठता हैं तो कभी कभी बच्चो जैसी हरकतें करता है। दूसरी ओर उसका मानव प्रतिरूप भेड़िया हैं जो कि अलग होने के बाद पूरी तरह इंसान बन गया है। उसके पास कोई जादूई शक्ति नहीं है। लेकिन उसके पास भेड़िया गुरु गुरुराज भाटिकी का सिखाया हुआ सारा युद्ध कौशल हैं जिसकी मदद से शक्तिहीन होकर भी वह अपने जंगल की रक्षा करता है। इसके अलावा मानव होने की वजह से भेड़िया किसी भी स्थिति के बारे में सोच और समझ सकता है। दिमागी रूप से भेड़िया बहुत ही चतुर हैं। यहां आप कोबी और भेड़िया को अच्छे से समझ गए होंगे। हम यही पर कोबी की शक्तियों का जिक्र कर लेते हैं क्यूंकि हमे आगे इसका मौका नहीं मिलेगा। कोबी की शक्तियों का राज है उसके पहने हुए आभूषणों में। कोबी का गले में पहने जाने वाला हार, उसे अपनी भेड़िया फौज बुलाने की और उनसे मनमर्जी का काम करवाने की ताकत देता हैं। कोबी की कमर पर बंधा हुआ बेल्ट कोबी के जख्मों को चंद क्षणों में भरकर उसे अजेय बनाता है। इसी बेल्ट की सहायता से वो अपनी पूंछ को बढ़ा पाता है। हाथ में पहने जाने वाले कड़े उसे भेड़िया देवता की गदा देते हैं जो की दुनिया का सबसे ख़तरनाक हथियार हैं। इसके अलावा कोबी में इतनी ज्यादा शारीरिक शक्ति है कि वो अपने एक घूंसे से चट्टानों तक को तोड़ सकता है।

Raj Comics Super Hero – Raj Comics news in Hindiकौन हैं कोबी?

भेड़िया असल में भेड़ियों की एक रहस्यमई सल्तनत “वुल्फानो” का आखिरी वारिस और राजा हैं। वर्तमान समय से करीब 50 हजार साल पहले वुल्फानो नाम का एक समृद्ध राज्य हुआ करता था जिसका रहने वाला हर शख्स एक भेड़िया-मानव हुआ करता था। ये भेड़िया मानव बाकी इंसानों की तरह बात कर सकते थे, किसी भी चीज और परिस्थिति को समझ और महसूस कर सकते थे। इनके राज्य में इनका अपना भेड़िया कानून था। ये सभी भेड़िया – मानव लड़ने और युद्ध करने में बड़े प्रशिक्षित थे। इनके कानून के अनुसार ये लोग इंसानों के साथ कोई संबंध नहीं रख सकते थे। और यही इंसान बाद में इस राज्य की बर्बादी का कारण भी बने।

हुआ यूं कि उस वक्त के वूल्फानो राजा वुल्फा, इंसानों के एक राज्य कोंकणी की राजकुमारी सुर्वैया के प्यार में पागल हो गए। बला की खूबसूरत सुर्वैया ने राजा वूल्फा की सोचने समझने की शक्ति छीन ली और वुल्फ़ा ने राजकुमारी सुर्वैया को पाने के लिए एक काला जादू किया जिसके प्रभाव में आकर सुर्वैया भी वुल्फ़ा से प्यार करने लगी और दोनों ने शादी कर ली। और दोनों का एक बेटा कोबी पैदा हुआ। दूसरी ओर सूर्वैया के पिता राजा कोंकण ने अपनी गायब हो चुकी बेटी को बहुत ढूंढा और तब उन्हें पता चला कि वो इस वक्त वुल्फ़ानो में हैं। राजा कोंकण ने अपनी सेना के साथ वुल्फ़ानो पर हमला कर दिया। कोंकण के अनगिनत सैनिकों के सामने भेड़िया फौज टिक नहीं पाई। राजा कोंकण की सेना ने भेड़ियों का संहार कर डाला और वहां के राजा वुल्फ़ा को बंदी बना लिया। राजा कोंकण ने सूर्वैया के ऊपर लगा काला जादू भी तुड़वा दिया जिसके बाद वो अपने पिता के साथ वहां से चली गई। गुरूराज भाटिकी ने किसी तरह नन्हे कोबी को उस हमले से बचा लिया और अज्ञातवास चले गए। बाद में यही कोबी गुरुराज भाटिकी की छत्रछाया में पलकर बड़ा हुआ। करीब 20 साल तक उन्होंने कोबी की देखभाल की। कोबी वैसे ही भेड़िया मानव होने की वजह से बहुत खतरनाक और बुद्धिमान था। पर गूरुराज भाटिकी ने उसमें अपना सारा अनुभव झोंक दिया। उन्होंने कोबी को फौलाद सा ताकतवर बनाया और युद्ध लड़ने की अपनी सारी विधा सिखाई। यहां तक कि उन्होंने उसे अपनी सारी जादूई शक्तियां भी कोबी को दे दी। कोबी उनकी देखरेख में बहुत बड़ा योद्धा बनकर सामने आया।

Raj Comics Super Hero – Raj Comics news in Hindi

लेकिन गुरूराज भाटिकी बदले की आग में झुलस रहे थे और राजा कोंकण से वुल्फानो की बर्बादी का बदला लेना चाहते थे। सही समय देखकर उन्होंने कोबी को उसके माता पिता के जिंदा होने की बात बताई और उन्हें आज़ाद कराने को कहा। अपने माता पिता के ज़िंदा होने और उन पर हुए अत्याचारों की बात सुनकर कोबी गुस्से से पागल हो उठा। सबसे पहले कोबी ने कोंकणी की जेल में बंद अपने पिता वुल्फ़ा को आजाद कराया और बाद में दोनों बाप बेटो ने कोंकणी राज्य में तबाही मचा दी। उन्होंने राजा कोंकण से सूर्वैया के बारे में पूछा तो उन्हें पता लगा कि 20 साल पहले ही सूर्वैया यानी कोबी की मां की शादी किसी ओर राज्य के राजकुमार से कर दी गई थी। कोबी और वुल्फ़ा अब अपनी सूर्वैया को लेने उस राज्य में जाते हैं। लेकिन वहां जाकर उन्हें जबरदस्त धक्का लगता है। सूर्वैया अब किसी काले जादू की कैद में नहीं थी। और उसने अपने पति वुल्फ़ा और बेटे कोबी को पहचानने से इंकार कर दिया। सूर्वैया ने कोबी की हिंसकता को देखकर उसे पत्थर में बदल जाने का श्राप दिया। जिसके बाद कोबी पत्थर में बदलने लगा। लेकिन यहां वुल्फ़ा ने अपने काले जादू की बात दोनों को बताई। वुल्फ़ा ने सूर्वैया को अपने बेटे का वास्ता देकर श्राप वापस लेने का आग्रह किया। जिसके बाद सूर्वैया ने श्राप का तोड़ बताया कि अगर किसी कुंवारी लड़की का खून अनजाने में कोबी पर गिर जाए तो कोबी फिर से जिंदा हो जाएगा। उसके बाद कोबी पूरी तरह पत्थर में बदल गया। और फिर बाद में कोबी को सोने की मूर्ति में बदलकर, एक पहाड़ी पर छोड़ दिया।

50 हजार साल बीत गए और कोबी की सोने की मूर्ति असम के जंगलों में आ गई। जंगल का एक आदमखोर कबीला, कोबी की सोने की मूर्ति को देवता समझकर पूजते थे। उन्होंने पहाड़ों के ऊपर एक गुफा में कोबी की मूर्ति को स्थापित कर दिया। उनका साल में एक बार मेला लगता था जहां वो एक कुंवारी लड़की की बलि कोबी की मूर्ति को देते थे। इसी सोने की मूर्ति पर काला बच्चा नाम के एक शिकारी की नजर थी। काला बच्चा ने 6 अलग अलग तरह के लोगों को अपनी गैंग में शामिल किया जो कि अपने अपने क्षेत्र में महारत हासिल किए हुए थे जैसे कि एक जंगली जानवरों का ट्रेनर था, एक बॉक्सर था, एक जंगली लोगो की भाषा जानता था, एक पुरातत्व चीजों का जानकार था आदि। ये सभी इन कबीले के लोगो को बेवकूफ बनाकर उनके साथ रहने लगे। मेले के दिन पास आते जा रहे थे। कबीले के लोगो ने एक कुंवारी लड़की जीना को पकड़ा। आदिवासी नियम के मुताबिक, बलि के लिए जीना को कबीले का सबसे ताकतवर इंसान ही गुफा में ले जा सकता था। तब उस बॉक्सर ने अपने आपको कबीले का सबसे ताकतवर इंसान सिद्ध किया। जब मेले का दिन आया तो बली के लिए कबीले के लोगो ने जीना को बॉक्सर और एक तांत्रिक के साथ पहाड़ों की गुफा में भेजा। ऊपर जाने के बाद बॉक्सर के बाकी साथी भी छुपते छुपाते गुफा में आ गए। सबसे पहले इन लोगो ने उस तांत्रिक को मार डाला और जीना को आज़ाद कर दिया। फिर कोबी की सोने की मूर्ति को पैराशूट से बांधकर उड़ा दिया और वह से भाग गए। पूरे जंगल में बात आग की तरह फेल गई कि कोई सोने की मूर्ति हवा में उड़ रही हैं। सभी लोग उस मूर्ति को हथियाने के लिए दौड़े। लेकिन ये मूर्ति काला बच्चा ने हेलीकॉप्टर से उड़ा ली और उसे लेकर भाग गया। थोड़ी दूर उड़ने के बाद अचानक से हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया और मूर्ति नीचे जा गिरी। पर काला बच्चा ने पानी में कूदकर अपनी जान बचा ली। कोबी के वफादार भेड़ियों ने कोबी की मूर्ति को खींचकर एक किले में छुपा दिया। बाद में इन्हीं भेड़ियों ने काला बच्चा और उसकी गैंग को मूर्ति के पास आने से रोके रखा। इसी दौरान रात भी हो गई। काला बच्चा और उसके गैंग के लोग रात में आगे नहीं बढ़ सके। पर तब तक जीना मूर्ति की खोज में उस किले तक जा पहुंची। वह पहुंचते ही भेड़ियों के झुंड ने जीना पर हमला कर दिया। भेड़ियों ने घायल जीना को मूर्ति के ऊपर कुछ इस तरीके से लटकाया ताकि उसके खून की बूंदे नीचे पड़ी कोबी की मूर्ति पर गिरे। उसके बाद भेड़ियों ने जीना को नोंच नोंचकर खा लिया। जीना की तड़पती आवाज को सुनकर जब काला बच्चा और उसके लोग खंडहर बन चुके किले में घुसे तो उन्हें जीता जागता कोबी मिल गया। कोबी अब जिंदा हो चुका था। भेड़ियों की फौज ने काला बच्चा और उसकी गैंग के सभी लोगो को ज़िंदा खा लिया और इस तरह जंगल के जल्लाद कोबी की वापसी हो गई।

आगे भी कहने को बहुत हैं जैसे कि कोबी जंगल में किस तरह अपने आपको ढाल पाया? जेन उसे कब और कहा मिली? कोबी और भेड़िया किस तरह अलग अलग हो गए। इन सबकी जानकारी आपको मिलेगी इस आर्टिकल के बाद आने वाले अगले आर्टिकल में। तो आप हमारा अग्ला आर्टिकल भी जरूर पढ़िए। हमने आपको संक्षेप में कोबी के जीवन की पूरी जानकारी दी और हमे विश्वास है कि आपको ये काफी पसंद भी अाई होगी।

एक बात हम आपको बताना चाहेंगे की हमने जितनी भी जानकारी इस आर्टिकल में कवर की हैं उसका असली मज़ा सिर्फ कॉमिक्स में ही हैं। और अगर आपने ये कॉमिक्स नहीं पढ़ी तो फिर यु समझ लीजिये की आपने कुछ नहीं पढ़ा। कोबी ज़िन्दगी को जानने के लिए आपको वुल्फानो कॉमिक्स जरूर पढ़नी चाहिए ।

आपको हमारा आर्टिकल कैसा लगा? कमेंट सेक्शन में अपनी राय दे। हमारे पेज पर डेली विजिट करते रहिये ताकि आपको कॉमिक्स से जुड़ी इसी तरह की जानकारी मिलती रहे। हमने इस आर्टिकल को बड़ी मेहनत से तैयार किया है इसलिए हम चाहते कि आप इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि हर कॉमिक्स के दीवाने को अपने इस जंगल के जल्लाद की पूरी जानकारी मिल सके।

जब जान बचाते चिल्लाते भागे परमाणु और शक्ति, Raj Comics की “बचाओ बचाओ” करने वाली अनोखी कॉमिक्स।

जानिए Raj Comics की इस महिला सुपरहीरो “शक्ति” के बारे में सब कुछ।

5 मौके जब Raj Comics के सुपरहीरोज बहुत पिटाई हुई।

कानून का रखवाला, फर्ज की मशीन, Raj Comics का इंस्पेक्टर स्टील।

Raj Comics और Super Commando Dhruva की बालचरित श्रंखला का सुखद अंत?

Raj Comics के ब्रह्मांड रक्षकों से जुड़े कुछ यादगार पल।

Super Commando dhruva के वो 5 पल, जब दिमाग का इस्तेमाल कर उसने अपने दुश्मनों को दी शिकस्त।

तुलसी कॉमिक्स के इन 3 प्रसिद्ध सुपरहीरोज को भूले तो नहीं?

Raj Comics के सुपरहीरो “तिरंगा” को आप कितना जानते हैं?

Raj Comics के 5 सुपर विलेन जिनको फिर किसी ना किसी कॉमिक्स में लाया जाना चाहिए।

Parmanu- में भी तो आपका सुपरहीरो था। मेरे साथ ऐसा क्यों किया?

Raj Comics के इतिहास के 5 सबसे शक्तिशाली सुपर हीरोज

तो बात करते हैं कॉमिक्स पर – 01 सम्राट और सौडांगी

राज कॉमिक्स के इतिहास के 5 सबसे शक्तिशाली सुपर विलेन।

भारतीय कॉमिक्स का इतिहास और वर्तमान स्थिति

13Shares

Leave a Reply